प्रभु यीशु का शीघ्र द्वितीय आगमन

प्रभु यीशु के जीवन और पुनरुत्थान के गवाह।
धर्म प्रचारक नहीं, यीशु मसीह के शिष्य।

प्रभु यीशु को अपने कार्यक्रमों के उदघाटन के लिए बुलाना बंद करें।

प्रभु यीशु को अपने कार्यक्रमों के उदघाटन के लिए बुलाना बंद करें।

आज मसीही जगत के बुरे हाल हैं। मसीहियत मात्र एक सामाजिक गतिविधि बन रही है। मसीह के नाम पर प्रोजेक्ट (योजना) बनाये जाते हैं, फिर मसीह यीशु को रिबन काट कर उदघाटन के लिए बुलाया जाता है और आशीर्वाद माँगा जाता है। युहन्ना ५:३० का वचन याद आता है। यहाँ प्रभु यीशु कहते है “मैंRead more about प्रभु यीशु को अपने कार्यक्रमों के उदघाटन के लिए बुलाना बंद करें।[…]

कोई घटी ना होगी मुझको, यीशु मेरे साथ है

कोई घटी ना होगी मुझको, यीशु मेरे साथ है

कोई घटी ना होगी मुझको, यीशु मेरे साथ है हरी चराइयों में ले जाता, जो झरनों के पास है अच्छा चरवाहा यीशु, अच्छा चरवाहा, प्राण देने वाला, वो ही मेरा रखवाला, अच्छा चरवाहा मेरा, अच्छा चरवाहा, अच्छा चरवाहा यीशु, अच्छा चरवाहा, अंधियारी हो वादी फिर भी, निर्भय होकर जाऊँ मैं मौत के साए में आऊंRead more about कोई घटी ना होगी मुझको, यीशु मेरे साथ है[…]

कुँए पर बैठा आदमी कहीं मसीह तो नहीं

कुँए पर बैठा आदमी कहीं मसीह तो नहीं

कुँए पर बैठा आदमी कहीं मसीह तो नहीं ? – यूहन्ना ४ मूर्खता की बात तो लगती है। और वो भी एक गंवार सी औरत के मुंह से। और सच तो ये है कि आत्मिक बातें तो मूर्खता लगतीं हैं और इसीलिए तो उन्हें मानने के लिए विश्वास की आवश्यकता है। “क्योंकि जब परमेश्वर केRead more about कुँए पर बैठा आदमी कहीं मसीह तो नहीं[…]

परमेश्वर का राज्य धन और संपत्ति से नहीं बनेगा

परमेश्वर का राज्य धन और संपत्ति से नहीं बनेगा

मैं ऐसे भाई बहनों को उत्साहित करना चाहता हूँ जिन्हें न कोई जानें, न उन्हें पहचानें, न रास्ते में सलाम करें, न उन्हें अंग्रेजी आती है और न बड़े लोगों से मुलाकात है। और शायद वो निराश हो जाते हैं। लेकिन स्वर्ग का पिता उन्हें प्रभु यीशु के द्वारा पहचानता है और उनके काम कोRead more about परमेश्वर का राज्य धन और संपत्ति से नहीं बनेगा[…]