तो देखा था मैने उसे रोते…

युहन्ना ११ पड़ते हुए कुछ पंक्तियाँ लिखीं- शिष्य

बिलखती हुई बहनों को
व्याकुल असहाय आँखों को
भाई के मरने पर तड़पते पाया
तो देखा था मैने उसे रोते

पुनरूतथान वा जीवन मे हूँ
मृत्यु पर जयवंत मे हूँ
कहने पर भी भरोसा न लाए जब
तो देखा था मैने उसे रोते

होते अगर, न जाते वहाँ
तो मरता भाई, मेरा न यहाँ
शिकायत मर्था मरियम ने की जब
तो देखा था मैने उसे रोते

यरुशलम के निकट आकर
दुर्दशा दुख दुष्कर्म देखकर
हाय काश आज ही पहचानते
तो देखा था मैने उसे रोते

आज उस भूले को देखा था
गिरके उठता था फिर गिरता था
आँधियारे मे भूखा वो प्यासा था
तो देखा था मैने उसे रोते